IAS Ka Full Form in Hindi

प्रत्येक व्यक्ति का जीवन में सपना होता है कि वह आगे चलकर एक सफल व्यक्ति बने इसके लिए कड़ी मेहनत करता है | कुछ लोग जीवन में डॉक्टर बनना चाहते है, तो कुछ लोग इंजीनियर बनना चाहते है, तो कुछ लोग आईएएस बनना चाहते है | वह आईएएस बन कर देश की सेवा करना चाहते है, इससे उंनका नाम चारों तरफ रोशन होगा | अधिकतर लोग आईएएस बनाना चाहते है लेकिन एक आईएएस ऑफिसर बनने के लिए कड़ी मेहनत करने की आवश्यकता होती है | आप इस पद तक केवल हार्ड वर्क के साथ ही पहुँच सकते है | इस पेज पर IAS Ka Full Form in Hindi, आईएएस का क्या मतलब होता है, के विषय में बताया जा रहा है |

ये भी पढ़ें: फास्टैग (FASTAG) का फुल फॉर्म

आईएएस का फुल फॉर्म (IAS Full Form)

आईएएस का फुल फॉर्म “Indian Administrative Service” होता है, हिंदी में इसे “भारतीय प्रशासनिक सेवा” के नाम से जाना जाता है | आईएएस हमारे देश का सबसे प्रतिष्ठित पद है | इससे सम्बंधित सभी पद भारत की टॉप जॉब में से एक होती है | यह प्रशासनिक सिविल सर्विस है इसे भारत सरकार द्वारा नियोजित किया जाता है | आईएएस एग्जाम को इंडिया में होने वाले सभी एग्जाम में से टॉप एग्जाम के रूप में माना जाता है | इस एग्जाम का स्तर बहुत ही उच्च होता है | इसके लिए उच्च स्तर की तैयारी करने की आवश्यकता होती है | यह एग्जाम यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन के द्वारा आयोजित किया जाता है | इस परीक्षा में भाग लेने के लिए विद्यार्थियों को काफी मेहनत व लगन से तैयारी करनी पड़ती है |

ये भी पढ़ें: ITI KA FULL FORM IN HINDI

आईएएस का क्या मतलब होता है (IAS Meaning)?

आईएएस को भारतीय प्रशासनिक सेवा के नाम से जाना जाता है | भारतीय समाज में आईएएस को सबसे सम्मानित पद के रूप में जाना जाता है | एक आईएएस ऑफिसर को भारत सरकार के द्वारा नियंत्रित किया जाता है | आईएएस बनने के लिए इसकी परीक्षा को उत्तीर्ण करना आवश्यक है | आईएएस की परीक्षा भारत में होने वाली सबसे कठोर परीक्षा में से एक है | यह अन्य परीक्षाओं की तुलना में बहुत ही प्रतियोगात्मक परीक्षा होती है | यह भारत की सबसे बड़ी सरकारी नौकरी मानी जाती है | यह पूरे जिले में सबसे अधिक प्रभावशाली व्यक्ति होता है | इसके द्वारा जिले के हर डिपार्टमेंट का मार्गदर्शन किया जाता है | वह डिपार्टमेंट चाहें पुलिस डिपार्टमेंट हो या हेल्थ डिपार्टमेंट सभी इसके द्वारा ही निर्देशित किये जाते है | केंद्र सरकार में सभी मंत्रालयों के सेक्रेटरी आईएएस अधिकारी ही होते हैं, केंद्र सरकार के अधीन वह चाहे कोई भी मंत्रालय हो | यह सर्विस अंग्रेजों द्वारा बनायीं गयी है, उस समय इस सर्विस को हेवन बोर्न सर्विस के नाम से जाना जाता था |

ये भी पढ़ें: ERP KA FULL FORM IN HINDI

एक आईएएस ऑफिसर के द्वारा सामान्यतः अपने क्षेत्र में गवर्नमेंट पॉलिसी को लागू करवाना होता है | यह एसडीएम, एडीएम, डीएम और डिपार्टमेंटल कमिश्नर के रूप में कार्य करके पॉलिसी को लागू करवाते है | इनके द्वारा पब्लिक और गवर्नमेंट के बीच सुलह कराने वाले व्यक्ति के रूप में कार्य करना होता है | यह सरकार के निर्देश के अनुसार जनता को लाभ पहुंचाने का कार्य करते है | इनके द्वारा प्रशासन के दैनिक कार्यों का संचालन किया जाता है | एक आईएएस ऑफिसर से योजना और नीति के निर्माण तथा उनके एक्सेक्यूटिव की अपेक्षा की जाती है |

आईएएस ऑफिसर की नियुक्ति को भारतीय गजट में सूचित किया जाता है | यह एक गज़ेटेड अधिकारी के रूप में जाना जाता है | आईएएस ऑफिसर को केवल राज्य सरकार के पास सस्पेंड करने का अधिकार है, राज्य सरकार उसे पद से नहीं हटा सकती है |

ये भी पढ़ें: LAN FULL FORM IN HINDI

योग्यता (Eligibility)

एक आईएएस अधिकारी बनने के लिए अभ्यर्थी को भारत का नागरिक होना अनिवार्य है | अभ्यर्थी को साइंस, आर्ट, कॉमर्स में से किसी भी स्ट्रीम में से ग्रेजुएट होना जरूरी है | ग्रेजुएशन में प्राप्त होने वाले अंको की किसी भी प्रकार से कोई बांध्यता नहीं है | इसमें केवल ग्रेजुएट उत्तीर्ण ही पर्याप्त है |

ये भी पढ़ें: TDS FULL FORM IN HINDI

आयु सीमा (Age Limit)

IAS अधिकारी बनने के लिए जनरल केटेगरी के छात्रों के लिए आयु 21 वर्ष से 32 वर्ष के बीच में होनी चाहिए | जनरल केटेगरी के छात्रों सिर्फ 6 बार ही आईएएस की परीक्षा में सम्मिलित होने की अनुमति प्रदान की जाती है |

अन्य पिछड़ा वर्ग के छात्रों की आयु 21 वर्ष 35 वर्ष के बीच में होनी अनिवार्य है, इस केटेगरी के छात्रों को केवल नौ बार परीक्षा में भाग लेने का अवसर प्रदान किया जाता है |

अनुसूचित जाति और अनुसूचित जन जाति के छात्रों के लिए आयु 21 वर्ष से 37 वर्ष के बीच में होनी अनिवार्य है | इस वर्ग के छात्रों को आईएएस की परीक्षा में बैठने के लिए अवसरों का निर्धारण नहीं किया गया है, इस वर्ग के छात्र निर्धारित आयु सीमा के अंदर जब तक परीक्षा में भाग लेना चाहे ले सकते है |

ये भी पढ़ें: HR FULL FORM IN HINDI

परीक्षा पैटर्न (Exam Pattern)

इस परीक्षा को तीन भागों में विभाजित किया गया है-

  • प्रारंभिक परीक्षा
  • मुख्य परीक्षा
  • साक्षात्कार

इन तीनों चरणों में सफल होने वाले छात्रों को ही आईएएस के पद के लिए चयनित किया जाता है |

ये भी पढ़ें: GST KA FULL FORM IN HINDI

प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary Exam)

प्रारंभिक परीक्षा में दो पेपरों का आयोजन होता है | दोनों पेपर 200-200 मार्क्स के होते हैं | इन दोनों में ही बहुविकल्पी प्रश्न पूछे जाते है | इस परीक्षा का आयोजन जुलाई-अगस्त में किया जाता है | यदि आप इस परीक्षा में सफल हो जाते है, तो आपको मुख्य परीक्षा में भाग लेने का अवसर प्रदान किया जाता है |

ये भी पढ़ें: CJI KA FULL FORM IN HINDI

मुख्य परीक्षा (Main Exam)

मुख्य परीक्षा में नौ पेपर होते है, इस परीक्षा को दिसंबर-जनवरी में आयोजित किया जाता है | इस परीक्षा का स्तर कठिन होता है | यह परीक्षा विस्तृत उत्तरीय प्रश्नों पर आधारित होती है | यदि अभ्यर्थी इस परीक्षा में अच्छे अंकों के साथ सफल घोषित कर दिए जाते है, तब ही उन्हें साक्षात्कार के लिए अवसर प्रदान किया जाता है |

साक्षात्कार (Interview)

मुख्य परीक्षा में सफल होने वाले अभ्यर्थियों को साक्षात्कार के लिए बुलाया जाता है | इसमें चयन समिति के द्वारा साक्षात्कार लिया जाता है | इसमें अभ्यर्थी की योग्यता की जाँच की जाती है, इसमें सफल होने के बाद छात्र का चयन कर लिया जाता है |

सैलरी (Salary)

एक आईएएस अधिकारी की सैलरी 60,000 से शुरू होकर 2.5 लाख तक होती है, इसके अतिरिक्त इन्हें कई प्रकार के भत्ते और अन्य सुविधायें प्रदान की जाती है |

ये भी पढ़ें: RPF FULL FORM IN HINDI

ये भी पढ़ें: PCS KA FULL FORM IN HINDI

ये भी पढ़ें: पीडब्ल्यूडी (PWD) का फुल फॉर्म क्या होता है