IES ka Full Form in Hindi

दुनिया में अधिकतर लोग एक अच्छा पद प्राप्त करने के लिए कई पदों के लिए आवेदन करते हैं और बोर्ड की तरफ से आयोजित की जाने वाली परीक्षाओं में शामिल होते हैं क्योंकि, कुछ लोग डॉक्टर बनना चाहते हैं, तो वहीं कुछ लोग इंजीनियर बनना चाहते हैं, जिसके लिए उन्हें कई परीक्षाएं देनी होती हैं | इसी तरह एक IES की परीक्षा का आयोजन किया जाता हैं | इस परीक्षा में सफलता प्राप्त कर लेने वाले अभ्यर्थी एक बहुत बड़े इंजीनियर बन सकते हैं, क्योंकि इस परीक्षा में सफल होने के लिए अभ्यर्थियों को कड़ी से कड़ी मेहनत करनी होती है | यदि आप भी IES के पद के बारे में जानना चाहते हैं, तो यहाँ पर आपको IES ka Full Form , IES कैसे बने, योग्यता, वेतन और अधिकार की पूरी जानकारी प्रदान की जा रही है | 

IIT FULL FORM IN HINDI

IES का फुल फॉर्म हिंदी में

IES का फुल फॉर्म “Indian engineering service” होता है । इस पद के लिए आयोजित की जाने वाली परीक्षा देश के टॉप परीक्षाओं में से एक है । इस परीक्षा का आयोजन UPSC द्वारा किया जाता है। IES की इस परीक्षा में केवल B Tech किये हुए ही अभ्यर्थी शामिल हो सकते है । इसके अलावा यह परीक्षा हिंदी में नहीं कराई जाती है | अभ्यर्थियों को इस परीक्षा को पूरा इंग्लिश में ही देना होता है |

IES कैसे बने 

IES बनने के लिए अभ्यर्थियों को बहुत अधिक मेहनत करनी होती है क्योंकि, इस पद के लिए आयोजित की जाने वाली परीक्षा अभ्यर्थियों को अंग्रेजी में देना होता है | इसके साथ ही इस परीक्षा में  ग्रेजुएट किये हुए अभ्यर्थी नहीं शामिल हो सकते है, क्योंकि इस पद के लिए केवल बीटेक ही छात्र आवेदन कर सकते है | 

IES बनने के लिए शैक्षिक योग्यता   

1. पद के लिए आवेदन करने वाले अभ्यर्थी के पास  B.Tech की डिग्री Civil, electrical, mechanical, electronic and telecommunications में से किसी ट्रेड से होनी आवश्यक है | 

2.अतिरिक्त इस पद के लिए  भारत, नेपाल और भूटान के नागरिक ही आवेदन कर सकते है | 

आयु सीमा 

इस पद के लिए आवेदन करने वाले आवेदक की न्यूनतम आयु  21 वर्ष और अधिकतम आयु 32 वर्ष होना अनिवार्य है।

UPSC FULL FORM IN HINDI

परीक्षा पैटर्न 

इस पद के लिए तीन चरणों में परीक्षा का आयोजन किया जाता है, जिसमें सफलता प्राप्त कर लेने वाले अभ्यर्थी को इस पद के चयनित कर लिया जाता है, जो इस प्रकार है- 

1. Preliminary exam

2. Mains exam

3. Interview (personality test)

Preliminary exam  

इस परीक्षा में शामिल होने के लिए अभ्यर्थियों को सबसे पहले  आवेदन करते समय ट्रेड  भरना होता  है । इसके बाद उसी ट्रेड से रिलेटिव पेपर कराया जाता  है ।  इस एग्जाम में अभ्यर्थियों को 2 पेपर देने होते है।

पहला पेपर (General studies and engineering aptitude) : 

इस पद के लिए आवेदन करने वाले सभी अभ्यर्थियों को सबसे पहले    इस पेपर  शामिल होना होता है जो 200 अंको का कराया जाता है | इस प्रश्न पत्र को हल करने के लिए अभ्यर्थियों को 2 घंटे का समय दिया जाता  है, जिसमें 100 बहुविकल्पीय प्रश्न पूछे जाते है । इसमें नेगेटिव मार्किंग 0.33 अंक का दिया जाता  है।  

दूसरा पेपर (civil, electrical, mechanical, electronics):

यह preliminary exam  ट्रेड से संबंधित दूसरा पेपर कराया जाता है,  इसमें ट्रेड से प्रश्न पूछे जाते  है। जैसे-  सिविल इंजीनियरिंग वालो को सिविल से प्रश्न  पूछे जाते है । ऐसे से electrical engineering, mechanical engineering, electronic and telecommunications वालो के प्रश्न दिए जाते है । उनके ब्राँच ( trade) से सम्बंधित।

यह पेपर कुल 300 अंको का कराया जाता  है| इस पेपर को हल करने के लिए अभ्यर्थियों को 3  घंटे का समय दिया जाता है, जिसमें 150 बहुविकल्पीय प्रश्न पूछे जाते  है। इसमें भी नेगेटिव मार्किंग 0.33 (1/3) अंक की जाती है |

Mains Exam (written exam)

जो अभ्यर्थी Preliminary exam में सफलता प्राप्त कर लेते हैं तो उन्हें इसके बाद  mains के एग्जाम में शामिल किया जाता है |   यह एग्जाम लिखित कराया जाता है, इसमें अभ्यर्थियों को दिए गए प्रश्न का उत्तर निर्धारित शब्दो में लिखना होता है। इसमें कुल 2 पेपर कराये जाते  है । जो अपने अपने ट्रेड से रिलेटिव होती है, एक पेपर 300 अंको का कराया जाता  है । प्रत्येक पेपर को हल करने के लिए अभ्यर्थियों को 3 घण्टे का समय मिलता है। इसमें negative marking नहीं होता है ।

Interview (Personality test)

तीसरे चरण के अंतर्गत जो अभ्यर्थी  Mains exam  में सफलता प्राप्त कर लेते हैं, तो उन्हें इसके बाद  interview ( personality test)  के लिए बुलाया जाता है । यह एग्जाम कुल 200 अंको का होता है । इसमें इंटरव्यू लेने वाले अधिकारी अभ्यर्थी की पर्सनालिटी देखते है और साथ में कई सवाल पूछते है । इसके बाद इस परीक्षा में सफल होने वाले अभ्यर्थियों को इस पद के लिए नियुक्त कर लिया जाता है |  

MBBS FULL FORM IN HINDI

IES अधिकारी का वेतन 

एक  IES officer को salary Basic Pay, dearness allowance , Transportation Allowance , HRA  कुल मिलाकर लगभग 50,000+  रूपये सैलरी प्रदान की जाती है ।

IES के अधिकार

  1. अधिकारी को देश के विकास में अहम योगदान देने का पूरा अधिकार प्राप्त होता है |
  2. पद काम करने वाले अधिकारी देश के हित के लिए हर संभव कार्य कर सकते है | 
  3. किसी भी अधिकारी से सलाह लेने की आवश्यकता नहीं होती है |

यहाँ पर हमने आपको IES बनने के विषय में सम्पूर्ण जानकारी उपलब्ध कराई है | आशा करता हूँ कि आपको मेरे द्वारा लिखा गया यह आर्टिकल पसंद आया होगा यदि आपके मन में इस पोस्ट से सम्बंधित किसी भी प्रकार का प्रश्न हैं तो कमेंट के माध्यम से जरूर पूछे | और इससे रिलेटेड कोई और जानकारी चाहिए तो कमेंट में प्रतक्रिया मिलने के बाद बहुत ही जल्द उसकी जानकारी आप तक पहुंचाई जाएगी |

MBA KA FULL FORM IN HINDI