एसएचओ (SHO) फुल फॉर्म क्या है

एसएचओ (SHO) पुलिस डिपार्टमेंट का एक पोस्ट होता है, इस पर काम करने वाले अधिकारी को प्रदेश सरकार द्वारा मनोनीत किया जाता है | यह पुलिस डिपार्टमेंट में वह अफसर होता है, जो Police Station का In-Charge होता है | पुलिस डिपार्टमेंट में Police Station के इंचार्ज को ही SHO  कहा जाता है। इनकी डायरेक्ट भर्ती नहीं  की जाती है, क्योंकि जो पहले पुलिस डिपार्टमेंट में Sub-Inspector के पद पर कार्य करते हैं  उन्हें ही प्रोमोट  करने के बाद SHO  का पद प्रदान किया जाता है, एक SHO के शोल्डर में 3 Star और Outer Shoulder में लाल और ब्लू रंग का Strip Ribbon लगा हुआ होता है | वहीं भारतीय कानून में होने वाले विधि अपराधों की खोजबीन और जांच का संचालन SHO के अधिकार में ही किया जाता है | यह एक सम्मान जनक पद होता है | इसलिए यदि आप भी एसएचओ (SHO) के विषय में जानना चाहते हैं, तो यहाँ पर आपको  एसएचओ (SHO) फुल फॉर्म क्या है , SHO Full Form, Meaning in Hindi | इसकी पूरी जानकारी प्रदान की जा रही है | 

डीएसपी, एसएसपी का फुल फॉर्म क्या होता है

एसएचओ (SHO) क्या मतलब है 

SHO मुख्य रूप से स्टेशन हाउस ऑफिसर होता है | SHO किसी इलाके के पुलिस स्टेशन का प्रमुख या अधिकारी माना जाता है |  वह पुलिस स्टेशन के  सभी कार्यों की देखरेख करने का काम करता है  और साथ ही में अपने क्षेत्र में कानून व्यवस्था बनाए रखता है | एसएचओ एक सब-इंस्पेक्टर (SI) से बड़े पद पर काम करता है लेकिन यह एक  पुलिस उपाधीक्षक (DSP) से नीचे रैंक पर कार्य करता है |एसएचओ (SHO) के अधीन सब-इंस्पेक्टर, हेड कांस्टेबल और कांस्टेबल की एक टीम काम करती है और इसके साथ ही  वह अपने क्षेत्र में अपराधों की जांच  करता है और उसे अपने पुलिस स्टेशन की तरफ से अदालत में उपस्थित होने का अधिकार भी प्रदान किया गया है। SHO को एक पुलिस स्टेशन का प्रभारी अधिकारी कहा जाता  है, जो पुलिस स्टेशन के कार्यों की देखरेख अपने अनुकूल करता है | SHO अधिकारी का पद उप-निरीक्षक या पुलिस आयुक्त के बीच का एक पद होता है, लेकिन SHO अधिकारी  को कई अधिकारों की जिम्मेदारी सौंपी जाती है,  क्योंकि वह अपने मन मुताबिक़,  समय आने पर कोई बड़ा फैसला ले सकता है।

एसएचओ (SHO) का फुल फॉर्म

 एसएचओ (SHO) का फुल फॉर्म “Station House Officer”  होता है,  इसे हिंदी भाषा में “स्टेशन हाउस अधिकारी”  कहा जाता है |  “स्टेशन हाउस” “पुलिस स्टेशन” का एक पर्यायवाची है, और SHO भारत में एक पुलिस स्टेशन का प्रभारी अधिकारी  कहलाता है |

एसएचओ (SHO) पुलिस अधिकारी का वेतन 

SHO अधिकारी को  27000 से 1,04,400 रुपये / के बीच वेतन प्रदान किया जाता  है | 

सभी पुलिस अधिकारी वेतन की सूची

Assistant Sub Inspector (ASI) 60600 RS /month
Sub Inspector Wireless Operator 27900 – 1,04,400 RS /month
Sub Inspector (Radio Tech) 27900 – 1,04,400 RS /month
Sub Inspector (Storeman Tech) 27900 – 1,04,400 RS /month
Inspector 27900 – 1,04,400 RS + Grade /month
Assistant Commissioner of Police (ACP) 46800 – 1,17,300 RS + Grade/month
Deputy Commissioner of Police (DCP) 46800 – 1,17,300 RS + Grade/month
Indian Police service (IPS) 46800 – 1,17,300 RS + Grade/month
Special Commissioner of Police 1,12,000 – 2,01,000 RS /month
Deputy Inspector General (DIG) 2,01,000 RS /month
Inspector General (IG) 1,12,000 – 2,01,000 RS /month
Additional Director General (ADG) 2,05,400 RS /month

एसएचओ (SHO) के कार्य 

  1. एसएचओ पुलिस अधिकारी  मुख्य रूप से अपने क्षेत्र में अपराध की जांच  करता है और अपने स्टेशन का प्रतिनिधित्व को पूरा करने का काम करता है |
  2. किसी क्षेत्र के रेलवे स्टेशन की देखरेख करता है |
  3. स्टेशन से सम्बंधित एक एसएचओ अपने मन मुकताबिक, फैसला लेकर कार्यों को करने की जिम्मेदारी निभाता है |

पीएसी का फुल फॉर्म क्या होता है

यहाँ पर हमने आपको एसएचओ (SHO) के फुल फॉर्म के विषय में जानकारी उपलब्ध कराई है | यदि इस जानकारी से रिलेटेड आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न या विचार आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है, हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |

ACP, DCP FULL FORM IN HINDI