Solar Panel Kya Hai | Solar Panel कैसे काम करता है?

मेरे प्यारे दोस्तों आज हम आपको Solar Panel Kya Hai के बारे में जानकारी देने वाले हैं| तो दोस्तों सोलर पैनल का नाम तो आप सभी ने सुना होगा, लेकिन बहुत कम लोग हैं जो सोलर पैनल क्या है और यह कैसे काम करता है इसके बारे में जानते हैं। अगर आप सोलर पैनल के बारे में सारी जानकारी पाना चाहते हैं तो हमारे आर्टिकल को आखिर तक ध्यानपूर्वक पढ़ें। क्योंकि आज के आर्टिकल में आपको सोलर पैनल के बारे में सभी महत्वपूर्ण जानकारी जानने को मिलेगी, आज के आर्टिकल में आप सोलर पैनल के उपयोग, फायदे और इसके प्रकार के बारे में भी जानेंगे। तो चलिए आगे बढ़ते हैं| तो दोस्तों आइये जानते हैं| Solar Panel Kya Hai और सोलर पैनल से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण जानकारी.

VISA KAISE CHECK KARE

Solar Panel Kya Hai

Solar Panel (सौर पैनल) इसको सोलर सिस्टम भी कहा जाता है सौर कोशिकाओं का एक संतुलित परस्पर संयोजन है जिसे फोटोवोल्टिक कोशिकाओं के रूप में जाना जाता है। यह एक प्रकार का उपकरण है जो सूर्य से प्राप्त ऊर्जा को विद्युत ऊर्जा में परिवर्तित करता है, अर्थात सूर्य से निकलने वाली किरणों को अवशोषित करके उन्हें ऊष्मा और बिजली आदि में परिवर्तित करता है, इसकी आवश्यकता नहीं होती है, बल्कि यह केवल सूर्य के प्रकाश का उपयोग करता है। सौर पैनलों का उपयोग वाणिज्यिक और आवासीय अनुप्रयोगों के लिए बिजली प्रदान करने के लिए एक बड़े फोटोवोल्टिक सिस्टम में एक घटक के रूप में किया जाता है|

PIL FULL FORM IN HINDI

Solar Panel (सोलर पैनल) कैसे काम करता है?

सौर पैनल के काम करने की प्रक्रिया बहुत सरल है आपको बस इतना करना होता है कि इस सौर पैनल को सूर्य की रोशनी वाली दिशा में लगाना होता है और इसको एक Converter की सहायता से इसे घर में प्रयोग करने के लायक बना लिया जाता है सोलर पैनल का इस्तेमाल करने के लिए आप इसको छत पर या किसी ऐसी जगह पर सेट करना चाहिए जो बिल्कुल सटीक कोण पर लगाया जाए जिससे इसकी गुणवत्ता अच्छी हो और यह अधिक से अधिक प्रकाश अवशोषित कर सकें| सोलर पैनल में कई सोलर सेल लगे होते हैं इन सोलर सेल को सोलर बैटरी भी कहा जाता है|

यह Solar Sell Silicon (सिलिकॉन) की परत से बने होते हैं जो एक अर्धचालक प्रकृति की धातु है| जिसके साथ फास्फोरस और बोरोल का इस्तेमाल भी किया जाता है जब फोटॉन सोलर पैनल की सतह से टकराते हैं तब Electron अपने Atomic Orbit से निकलकर सोलर सेल द्वारा उत्पन्न किए गए इलेक्ट्रिक फील्ड में चले जाते हैं जो इनको एक दिष्ट धारा में खींचता है इस पूरी प्रक्रिया को Photovoltaic फोटोवॉल्टिक प्रभाव कहा जाता है और कुछ इस तरह से हमें सोलर पैनल की सहायता से बिजली की प्राप्ति होती है|

GOOGLE SHEETS KYA HAI

Solar Panel (सोलर पैनल) के प्रकार

Solar Panel ( सोलर पैनल) मुख्य रूप से तीन प्रकार के होते हैं|

  1. Monocrystalline Solar Panel (मोनोक्रिस्टलाइन सोलर पैनल)
  2. Polycrystalline Solar Panel (पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनल)
  3. Thin Film Solar Panel (थिन फिल्म सोलर पैनल)

Monocrystalline Solar Panel (मोनोक्रिस्टलाइन सोलर पैनल)

पुराने और विकसित सोलर पैनल में विशेषकर तीन प्रकार के सोलर सेल्स का उपयोग होता है। इनमें से मोनोक्रिस्टलाइन सोलर सेल्स का प्रयोग उनमें सबसे प्रमुख है, जिन्हें Czochralski विधि से बनाया जाता है। ये परत कीमत में महंगे होते हैं, लेकिन उनमें किसी भी प्रकार की कमी नहीं होती है। इनके द्वारा सौर ऊर्जा को विद्युत धारा में परिवर्तित करने की क्षमता काफी उच्च होती है और इनके छोटे साइज का भी फायदा होता है। इसके अलावा, ये पैनल बुरे मौसम और बारिश के दौरान भी अच्छे से काम करते हैं।

Polycrystalline Solar Panel (पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनल)

पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनल एक नई विकास की दिशा है जो अधिक तेजी से लोकप्रिय हो रहे हैं। इन पैनलों का काम बेहतर तरीके से करता है और माइक्रोक्रिस्टलाइन सोलर पैनल के मुकाबले उनकी कीमत भी कम होती है। पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनल भी सिलिकॉन से बने होते हैं, लेकिन इनमें 17 पिघले हुए सिलिकॉन के क्रिस्टल टुकड़े का उपयोग किया जाता है। इनका निर्माण करते समय, सीड क्रिस्टल को ठंडे पानी में रखा जाता है जिससे कि यह धीरे-धीरे ठंडा हो सके। इसके बाद, सिलिकॉन के टुकड़ों को पतले पॉलीक्रिस्टलाइन वेफर में काटा जाता है और इन वेफर को जोड़कर पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनल तैयार किया जाता है.

जैसा कि आपने बताया, ये सोलर पैनल माइक्रोक्रिस्टलाइन के मुकाबले कम ऊर्जा उत्पन्न करते हैं और वे बारिश या बादली हवाओं में सही तरीके से काम नहीं कर पाते हैं। इसलिए, सोलर पैनल का चयन करते समय इन तत्वों को ध्यान में रखना अत्यंत महत्वपूर्ण होता है.

Thin Film Solar Panel (थिन फिल्म सोलर पैनल)

इस प्रकार का सौर पैनल उद्योग (Industry) में एक बिल्कुल नया विकास (Development) है इस सौर पैनल की अन्य सौर पैनलों से अलग विशेषता यह है कि यह हमेशा सिलिकॉन से बना नहीं होता है पतली फिल्म वाले सौर पैनल कई सामग्रियों की पतली परतें होती हैं जो कांच और अन्य धातुओं की एक पतली फिल्म की कोटिंग करके बनाई जाती हैं। सौर कोशिकाओं को बनाने के लिए, मुख्य सामग्री को प्रवाहकीय सामग्री की पतली चादरों के बीच सैंडविच किया जाता है। इस पर कांच की एक पतली परत लगाई जाती है इन सोलर पैनलों को थर्ड जेनरेशन सोलर सेल और लो कॉस्ट फोटोवोल्टिक (Low Cost Photovoltaic) के नाम से भी जाना जाता है|

PILOT KAISE BANE

Solar Panel के उपयोग

Solar Panel का उपयोग बहुत से कार्यों के लिए किया जाता है|

  • सोलर पैनलों का उपयोग अंतरिक्ष में भेजे जाने वाले अंतरिक्ष यान में स्थापित इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों को सौर पैनलों का उपयोग करके बिजली प्रदान की जाती है.
  • इसे हम अपने घर की छत पर लगाकर आसानी से बिजली प्राप्त कर सकते हैं.
  • ऐसे कई इलेक्ट्रॉनिक गैजेट और घड़ियाँ हैं जो बैटरी चार्ज करने के लिए सौर पैनलों का उपयोग करते हैं.
  • सड़कों पर लगी स्ट्रीट लाइटें दिन में सूर्य की किरणों से चार्ज होती हैं और रात में रोशनी प्रदान करती हैं.
  • सौर पैनलों का उपयोग वाणिज्यिक और आवासीय अनुप्रयोगों के लिए बिजली प्रदान करने के लिए एक बड़े फोटोवोल्टिक सिस्टम में एक घटक के रूप में किया जाता है.

WWW KYA HAI 

Solar Panel के फायदे

Solar Panel इस्तेमाल करने के बहुत से फायदे हैं जिनके बारे में हम आपको आगे बताने वाले हैं|

  • सोलर पैनल लगवाने में सिर्फ एक बार पैसा खर्च होता है लेकिन बाद में आपको बिजली बिल्कुल मुफ्त मिलती है.
  • इसके इस्तेमाल से आपको भारी मासिक बिजली बिल से छुटकारा मिल जाता है.
  • इसे इस्तेमाल करना बहुत आसान और सुरक्षित है.
  • आप चाहें तो सोलर पैनल का इस्तेमाल कहीं भी कर सकते हैं, इसे आप अपने घर और स्ट्रीट लाइट के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं.
  • ग्रामीण इलाकों या ऐसी जगहों पर जहां बिजली नहीं पहुंच सकती या बिजली की आपूर्ति बहुत कम है, वहां सोलर पैनलों का उपयोग करके बिजली प्राप्त की जा सकती है.
  • सौर ऊर्जा का उपयोग करके बिजली प्राप्त करना अन्य सभी स्रोतों की तुलना में बहुत सस्ता है
  • यह कम धूप या बादल वाली स्थिति में भी काम करता है.
  • सोलर पैनल की देखभाल और रखरखाव बहुत आसान है.
  • यह आपकी खपत और जरूरत के हिसाब से बाजार में उपलब्ध है जिसे आप आसानी से खरीद सकते हैं.
  • यह न तो पर्यावरण को प्रदूषित करता है और न ही नुकसान पहुंचाता है.

COMPUTER ENGINEER KAISE BANE

Conclusion

मेरे प्यारे दोस्तों आपको हमारा आर्टिकल “Solar Panel Kya Hai और सोलर पैनल कैसे काम करता है” ये आर्टिकल पसंद आया होगा| हमने सोलर पैनल के बारे में विस्तृत जानकारी प्रदान की है और उम्मीद है कि इससे आपके मन में सोलर पैनल संबंधित कोई भी सवाल नहीं होगा। लेकिन अगर आपको अभी भी कुछ पूछना हो या कोई और जानकारी चाहिए, तो कृपया कमेंट बॉक्स में हमें बताएं। हमें आपकी सहायता करने में खुशी होगी। और यदि आपको हमारे द्वारा दी गई सारी जानकारी पसंद आई है, तो इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें. धन्यवाद