gate exam{गेट एग्जाम} kya hai | एग्जाम पैटर्न, योगयता, सब्जेक्ट

Gate Exam Kya Hai :- गणित और साइंस वाले विद्यार्थियों के लिए आज हमारा यह आर्टिकल बहुत ही लाभकारी साबित होने वाला है। क्योंकि आज हम आपको Gate Exam के बारे में बताने जा रहे हैं। क्योंकि आज के समय हर Math और Science का Student गेट एग्जाम देने का सपना देखता है। लेकिन कई स्टूडेंट ऐसे भी हैं जिन्हें Gate Exam के बारे में पूरी इंफॉर्मेशन मालूम नहीं है। कि गेट एग्जाम क्या होता है, गेट एग्जाम के लिए क्या योग्यता है  आदि। इसलिए आज हम‌ अपने इस आर्टिकल में Gate Exam के बारे में सब कुछ बताने जा रहे हैं। जिसे पढ़कर आप अच्छे से गेट एग्जाम को समझ पाएंगे। यदि आप गेट एग्जाम देने के बारे में सोच रहे हैं तो फिर आप हमारा यह आर्टिकल जरूर पढ़ें।

LAN FULL FORM IN HINDI

गेट एग्जाम (Gate Exam) क्या है?

Gate Exam एक कंप्यूटर आधारित एग्जाम होता है। यह एग्जाम हमारे देश की कठिन परीक्षाओं में से एक है जिसे हर साल 1000000 से भी अधिक विद्यार्थी देते हैं। लेकिन सिर्फ 10 से 15% विद्यार्थी ही इस परीक्षा को पास कर पाते हैं। यह एग्जाम उच्च शिक्षा विभाग, MHRD, और NCB द्वारा राष्ट्रीय स्तर पर विभिन्न इंजीनियरिंग और विज्ञान पोस्ट ग्रेजुएट सब्जेक्ट की समझ की जांच करने के लिए आयोजित किया जाता है। Gate Exam को पास करने वाले विद्यार्थियों को देश के प्रसिद्ध इंजीनियरिंग कॉलेज में मास्टर डिग्री और पीएचडी करने के लिए एडमिशन मिलता है।

गेट एग्जाम में प्राप्त हुए अंक 3 साल तक वैलिड रहते हैं यानी अगर विद्यार्थी इस साल गेट एग्जाम के माध्यम से एडमिशन नहीं लेता है तो वह अगले साल इसके आधार पर अच्छे कॉलेज में एडमिशन ले सकता है। विद्यार्थी ग्रेजुएशन के बाद गेट एग्जाम को कई बार दे सकते हैं यानी इसके लिए कोई संख्या या समय तय नहीं है। यह परीक्षा पहले केवल भारत के विद्यार्थियों के लिए आयोजित की जाती थी। लेकिन अब यह परीक्षा बांग्लादेश, नेपाल, श्रीलंका, अरब, यूनाइटेड जैसे देश के विद्यार्थी भी दे सकते हैं। क्योंकि अब सरकार द्वारा इन देशों के विद्यार्थियों के लिए भी Gate Exam को आयोजित किया जाता है।

जो विद्यार्थी ग्रेजुएशन के बाद गेट एग्जाम को पास करते हैं तो उन्हें किसी अच्छे प्रसिद्ध कॉलेज या यूनिवर्सिटी में M-tech यानी मास्टर ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी में एडमिशन मिलता है और जो विद्यार्थी पोस्ट ग्रेजुएशन के बाद गेट की परीक्षा पास करते हैं तो उन्हें Phd कोर्स में एडमिशन मिलता है।

Gate Exam Eligibility (योग्यता)

  • जो विद्यार्थी 12वीं Math And Science विषय में करता है और 60% से अधिक अंक लाता है।
  • किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी या कॉलेज में इंजीनियरिंग यानी B-tech की डिग्री प्राप्त हो।
  • विद्यार्थी जो पीएचडी करना चाहते हैं तो उन्हें अच्छे और मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से पोस्ट ग्रेजुएशन साइंस साइड, मैथमेटिक्स, स्टैटिक्स और कंप्यूटर एप्लीकेशन जैसे विषयों में होना अनिवार्य है।
  • Graduation के बाद आप Gate Exam किसी भी आयु तक दे सकते हैं यानी एग्जाम देने के लिए कोई आयु सीमा निर्धारित नहीं है।
  • Math और Science में ग्रेजुएशन करने वाले छात्र भी गेट एग्जाम दे सकते हैं।
किन-किन संस्थानों द्वारा Gate Exam को आयोजित किया जाता है?
  • आईआईटी रुड़की
  • आईआईटी दिल्ली
  • आईआईटी गुवाहाटी
  • आईआईटी कानपुर
  • आईआईटी मद्रास
  • आईआईटी बॉम्बे

How To Fill Form For Gate Exam

  • इस परीक्षा के लिए आवेदन गेट की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर कर सकते हैं। अगस्त के आखिरी सप्ताह से सितंबर के आखिरी सप्ताह तक इसके लिए आवेदन किया जा सकता है।
  • लड़कियों, आरक्षित वर्ग के विद्यार्थियों और विकलांग विद्यार्थियों के लिए फॉर्म की फीस 750 रुपए की है।
  • लड़कों के लिए फॉर्म फीस 1500 रुपए है।
  • इंटरनेशनल उम्मीदवारों के लिए Form Fess 50 USD है।
Gate Exam के लाभ (Benefits)
  • विद्यार्थियों को गेट स्कोर के माध्यम से देश के बहुत प्रसिद्ध कॉलेज व विश्वविद्यालयों में पोस्ट ग्रेजुएशन में दाखिला मिलता है। विद्यार्थियों को देश के सारे आईआईटी में दाखिला मिलता है ‌और  इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस में एडमिशन होता है।
  • मास्टर ऑफ इंजीनियरिंग, मास्टर ऑफ टेक्नोलॉजी, डॉक्टर ऑफ फिजियोलॉजी में Gate Exam पास कर लेने के बाद दाखिला मिलता है।
  • अच्छे Gate Score हासिल करने से देश के Prestigious PSU (Public Sector Unit) जैसी कंपनियों से नौकरी के इंटरव्यू की कॉल आती है। इन कंपनियों में नौकरी की शुरुआत 15 लाख रुपए के पैकेज से होती है।
  • Aachen University (Germany), Technical University Of Munich (Germany), Anyang Technical University Singapore आदि जैसी विदेशी यूनिवर्सिटीज में अच्छे Gate Score प्राप्त करने से दाखिला मिलता है।
  • आप विश्व के बहुत ही प्रसिद्ध यूनिवर्सिटी में गेट की परीक्षा के द्वारा अच्छे स्कॉलरशिप के साथ एडमिशन पा सकते हैं।
  • Gate exam  के द्वारा आपको IIMS fellowship program लिए एडमिशन मिलता है। इसके अलावा हर महीने 35000 से ₹40000 तक का स्टाइपेंड भी मिलता है।
  • विद्यार्थी को Gate exam  के द्वारा NITIE MUMBAI  जैसे प्रतिष्ठित संस्थानों में दाखिला मिलता है। यह हमारे देश के सबसे अच्छे  industrial engineering manufacturing management  प्रोजेक्ट मैनेजमेंट कॉलेज में से एक है।
गेट एग्जाम का पैटर्न

यह परीक्षा ऑनलाइन माध्यम से होती है। Gate Exam Kya Hai Gate में 23 पेपर होते हैं। परीक्षा में पेपर को 3 Section में बांटा गया होता है। पेपर में जनरल एप्टीट्यूड, इंजीनियरिंग मैथमेटिक्स और विशिष्ट विषयों से जुड़े क्वेश्चन पूछे जाते हैं। Gate Exam 3 घंटों का होता है। इसमें कुल मिलाकर 65 Questions पूछे जाते हैं जो 100 अंकों के होते हैं। पेपर में सभी क्वेश्चन बहु विकल्प और न्यूमेरिकल टाइप के होते हैं। साथ ही नेगेटिव मार्किंग भी होती है एक गलत प्रश्न 1/2 अंक की नेगेटिव मार्किंग होती है। आपको बता दें परीक्षा का पाठ्यक्रम सभी  स्ट्रीम के लिए अलग अलग होता है।

गेट एग्जाम से जुड़ी जरूरी तारीखें
  • इच्छुक Students गेट एग्जाम के लिए अगस्त महीने के आखिरी सप्ताह से सितंबर के आखिरी सप्ताह तक आवेदन कर सकते हैं।
  • यह तारीख कुछ दिन आगे पीछे भी बढ़ सकती हैं।
  • Gate Exam Kya Hai में अप्लाई किए गए फॉर्म में सुधार करने के लिए प्रोसेस अक्टूबर के दूसरे सप्ताह से शुरू किया जाता है।
  • अगर आप Exam Centre बदलना चाहते हैं तो नवंबर के दूसरे सप्ताह तक बदल सकते हैं।
  • गेट एग्जाम का एडमिट कार्ड जनवरी के पहले सप्ताह में जारी किया जाता है।
  • फरवरी के पहले सप्ताह में गेट एग्जाम को आयोजित कराया जाता है यह परीक्षा अलग-अलग शिफ्ट में की जाती है।
  • Answer Key फरवरी महीने मैं जारी की जाती है। जिसके माध्यम से आप अपने पेपर को evaluate कर सकते हैं।
  • Gate Exam का रिजल्ट मार्च के दूसरे सप्ताह में जारी किया जाता है।
Gate Exam Core Subject
  • Mechanical Engineering
  • Biotechnology
  • Chemical engineering
  • Chemistry
  • Ecology and evolution
  • Petroleum engineering
  • Computer Science Engineer
  • Electrical Engineering
  • Information Technology
  • Civil engineering
  • Metallurgical engineering
  • Mining Engineering
  • Mathematics
  • Geology and geophysics
  • Textile engineering and fiber science
  • Engineering science
  • life science
  • Instrumentation engineering
  • Aerospace engineering
  • Agricultural engineering
  • Architecture and planning
  • Production and industrial engineering