ADJ Full Form in Hindi

देश में नौकरी करने के लिए विभिन्न पद होते है, जिनके लिए प्रत्येक वर्ष आवेदन जारी किये जाते है , जिसमें देश के कई नागरिक शामिल होकर इन पदों पर आवेदन करते हैं और इन आवेदनों के लिए आयोजित की जाने वाली परीक्षाओं में शामिल होकर परीक्षा में सफलता प्राप्त करते है | इसी तरह एक एडीजे का पद होता है, जिसके लिए लोग बहुत अधिक मेहनत करने के बाद इस पद को प्राप्त करने में सफल हो पाते है | यह एक बहुत बड़ा पद हैं, जिसमें लोगों को सम्मान के साथ-साथ अच्छी सैलरी भी प्रदान की जाती है | इसलिए यदि आप भी एडीजे (ADJ) कोर्ट के विषय में जानना चाहते हैं, तो यहाँ पर आपको ADJ Full Form in Hindi , एडीजे (ADJ) कोर्ट का क्या मतलब होता है ? इसके विषय में जानकारी प्रदान की जा रही है |

LLB KA FULL FORM KYA HAI

एडीजे (ADJ) का फुल फॉर्म

एडीजे (ADJ) का फुल फॉर्म  “एडिशनल डिस्ट्रिक्ट जज” होता है | जज बनना कोई आसान काम नहीं होता है क्योंकि एक बहुत काबिल व्यक्ति इस पद को प्राप्त करने में सफल पाते है | इसके लिए लोगों अत्याधिक मेहनत करने की आवश्यकता होती है |

एडीजे (ADJ) कोर्ट का क्या मतलब होता है 

एडीजे (ADJ) कोर्ट को कोर्ट में एक जज का पद प्रदान किया जाता है | कोर्ट में सभी अपीलों को ध्यानपूर्वक सुनने के बाद अपने मन मुताबिक़, फैसला सुनाता है | वहीं, इससे  ऊपर के पदों पर भर्ती को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने अहम फैसला सुनाते हुए कहा था कि, अधीनस्थ न्यायालय से जिला जज के तौर पर  सीधी नियुक्ति योग्य नहीं मानी जा सकती | इसकी योग्यता के लिए वकालत में 7 साल की प्रैक्टिस करनी आवश्यक है एडीजे (ADJ) का यह पद अत्यंत जिम्मेदारी का पद होता है, भारत में  सर्वोच्च न्यायलय  के मुख्य न्यायधीश की नियुक्ति राष्ट्रपति द्वारा की जाती और अन्य न्यायधीशों की नियुक्ति मुख्य न्यायधीश की सलाह पर राष्ट्रपति द्वारा होती है |

ADM FULL FORM IN HINDI

शैक्षणिक योग्यता

एडीजे (ADJ) का पद प्राप्त करने के लिए अभ्यर्थी को बारवीं की परीक्षा 45 प्रतिशत अंको के साथ सफलता प्राप्त करना आवश्य होता है, इसके बाद  अभ्यर्थी को  यूनिवर्सिटी द्वारा प्रवेश परीक्षा के आयोजन में सफलता प्राप्त करनी होती है, जिसमे  सफलता प्राप्त कर लेने के बाद अभ्यर्थी  को बीए एलएलबी में प्रवेश दे दिया जाता  है, इस कोर्स को पूरा करने के अभ्यर्थी को पांच वर्ष का समय लग सकता है |   

एडीजे (ADJ) के लिए व्यक्तिगत योग्यता

  1. एक एडीजे (ADJ) बनने के लिए आपको तथ्यों का मूल्यांकन करने और सही निर्णय लेने में पूरी तरह से सक्षम होना आवश्यक होता है | 
  2. न्यायालय में जज बनने के लिए सबसे आवश्यक होता है कि, उन्हें कानून के विषय में अच्छे से समझ होनी चाहिए, जिससे वह सभी नियमों का सही से पालन करवाने में सफल हो सके |
  3. एक जज के रूप में आपको सभी पक्षों पर विशेष ध्यान देना होता है,  जिससे आप अच्छी तरह से केश के मूल तत्व में जाकर अच्छा निर्णय लेकर अपना फैसला सुना सके, जो न्याय के पक्ष में हो |
  4. एक जज में पढ़ना और लेखन क्षमता अच्छी होनी चाहिए ,ताकि न्यायाधीश तथ्यों का मूल्यांकन अच्छे से कर सके, क्योंकि उनके बीच अंतर करना होता है, लेखन क्षमता के माध्यम से एक जज को केश से जुड़े सभी तत्वों को स्पष्ट तरीके से लिखना होता है और इसके बाद ही वो सम्पूर्ण केश स्टडी के बाद उसका निष्पक्ष फैसला सुनाते है |

एडीजे (ADJ) का प्रशिक्षण

जब किसी न्यायाधीश  का उनकी योग्यता के मुताबिक़ चयन कर लिया जाता है, तो इसके बाद उनको प्रशिक्षण  प्रदान  कर दिया जाता है, जिसमे न्यायालय के परीक्षणों में भाग लेने, कानूनी प्रकाशनों की समीक्षा करने और पूर्ण अभ्यास करने का अवसर प्राप्त होता  है, फिर जब वो सफलतापूर्वक प्रशिक्षण के सफलता प्राप्त कर लेते है, तो उसे एक न्यायाधीश के रूप में नियुक्त कर दिया जाता है |

डीएसपी, एसएसपी का फुल फॉर्म क्या होता है

यहाँ पर हमने आपको  एडीजे (ADJ) कोर्ट का क्या मतलब होता है ? इसके विषय में जानकारी उपलब्ध कराई है | यदि इस जानकारी से रिलेटेड आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न या विचार आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है, हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |

ACP, DCP FULL FORM IN HINDI