IVR Full Form in Hindi

आपने अक्सर देखा और सुना होगा कि, जब लोगों के फोन में किसी तरह की समस्या होती है या फिर फोन से सम्बंधित कोई अन्य जानकारी प्राप्त करनी है, तो इसके लिए लोगों को कई तरह के नंबर उपलब्ध कराये गए है, जिनपर लोग कॉल  करके आसानी के साथ जानकारी प्राप्त कर सकते है, क्योंकि दिए गए नंबर डायल करने के बाद आपको कस्टमर केयर कुछ प्रकिया करने का आदेश जारी करता है, जिसके बाद आपको वह प्रक्रिया करने के बाद आसानी से पूरी जानकारी प्राप्त हो सकती है |

इसी तरह  आइवीआर एक प्रकार का सिस्टम होता है , जैसे जब कभी आप लोग किसी मोबाइल कंपनी में कॉल करते है और फिर आपसे जानकारी ली जाती है, कि कस्टमर केयर के लिए 9 दबाएं , बैलेंस की जानकारी के लिए 1 दबाएं, तो इस तरह कि प्रक्रिया को ही IVR कहा जाता है, वहीं अब वर्तमान समय IVR बहुत ही प्रचलित हो चुका है, क्योंकि आजकल बैंकों में, मोबाइल कंपनी में, हर जगह IVR System का इस्तेमाल किया जाता है।

यह एक तरह का Interactive Voice Response System होता है। जिसके  माध्यम से ही हमे आपको Voice आती है। इसलिए यदि आपको आइवीआर से सम्बंधित अधिक जानकारी नहीं प्राप्त है और आप इसके विषय में जानना चाहते है, तो यहाँ पर आपको  IVR Full Form in Hindi | आइवीआर का फुल फ़ॉर्म, मतलब क्या है ? इसकी पूरी जानकारी प्रदान कि जा रही है | 

MOBILE KA FULL FORM IN HINDI

आइवीआर (IVR) का फुल फ़ॉर्म

आइवीआर का फुल फ़ॉर्म “Interactive Voice Response System” होता है | वहीं इसका हिंदी में उच्चारण “इंटरैक्टिव वॉइस रिस्पांस सिस्टम” होता है |


आइवीआर का क्या मतलब है

आइवीआर एक प्रकार का सिस्टम होता है | यह एक एशिया सिस्टम होता है, जिसका इस्तेमाल बैंकों के साथ-साथ गूगल फेसबुक जैसी बड़ी कंपनियां भी करती आ रही है | वहीं, वर्तमान समय में हर छोटी बड़ी कंपनी सभी IVR System के माध्यम से अपने कस्टमर की हेल्प करती है। यह एक INTERACTIVE Voice Response System होता है | इसकी आवश्यकता प्रमुख रूप से कोई भी कंपनी अपने कस्टमर की हेल्प के लिए इतने बड़े मात्रा में मैनपावर नहीं रख सकती है | इसलिए वो IVR System का इस्तेमाल करती है और अपने कस्टमर की हेल्प Voice Call के माध्यम से करती है। यह सिस्टम कंप्यूटर बेस होता है, कंपनी के कस्टमर की कोई भी परेशानी होती है तो वो IVR System के माध्यम से हल कर दी जाती है |

SIM KA FULL FORM IN HINDI

आइवीआर में क्या होता है ?

IVR System में हार्डवेयर लगा होता है, जिसमे हाई फिक्वेंसी और लो फिक्वेंसी के माध्यम से कस्टमर के सवाल को समझ कर जबाब दिया जाता है, क्योंकि जब आप किसी कंपनी में टोल फ्री या कस्टमर केयर नंबर पर कॉल करते है, तो वहां का IVR System हमें डेडक्ट करता है कि, कस्टमर ने कौन सा बटन दबाया है | इसके बाद उसी के अनुसार कस्टमर की हेल्प की जाती है |  वहीं, कस्टमर से सम्बंधित बातों को Interactive Voice Response System के Software में पहले से सेट कर दिया जाता है कि, यदि कस्टमर 2 दबाये तो उसको बैलेंस की जानकारी देना होता है और 3 दबाएं तो भाषा बदलना होता है , 4 दबाये तो कुछ और, 6 दबाये तो कस्टमर केयर से बात कराना होता है |

 GOOGLE FULL FORM IN HINDI

यहाँ पर हमने आपको आइवीआर के फुल फॉर्म के विषय में जानकारी उपलब्ध कराई है | यदि इस जानकारी से रिलेटेड आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न या विचार आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है, हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |

व्हाट्सएप्प का फुल फॉर्म क्या है