NBFC Full Form in Hindi

भारत में कई फाइनेंशियल इंस्टीट्यूशन हैं | यह बैंक नहीं है फिर भी बैंक का कार्य करती है | यह धन जमा करती है और कर्ज भी प्रदान करती है इन संस्थानों को गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनी (एनबीएफसी) के नाम से जाना जाता है | यह कंपनियां बीमा, चिटफंड, निधि, मर्चेंट बैंकिंग, स्टॉक ब्रोकिंग और इन्वेस्टमेंट बिजनेस भी करती है | इस पेज पर NBFC Full Form in Hindi , एनबीएफसी (NBFC) का क्या मतलब होता है, के विषय में बताया जा रहा है |

ये भी पढ़ें: SLR, CRR FULL FORM IN HINDI

एनबीएफसी (NBFC) का फुल फॉर्म

एनबीएफसी (NBFC) का फुल फॉर्म “NON BANKING FINANCE COMPANY” है, हिंदी में इसे “गैर बैंकिंग वित्तीय निगम” कहा जाता है | यह वह कंपनी होती है जो वित्तीय लेंन-देन का कार्य करती है, परन्तु यह कम्पनियाँ वास्तविक रूप से बैंक नहीं होती है | इन्हें क़ानूनी रूप से बैंक की मान्यता नहीं होती है | यह फाइनेंस कम्पनियाँ होती है | इनके द्वारा धन को कर्ज के रूप में दिया जाता है और वापस लिया जाता है |

एनबीएफसी (NBFC) का क्या मतलब होता है?

भारत में प्राइवेट या लिमिटेड कंपनी को Companies Act 2013 या फिर कंपनी एक्ट 1956 के अंतर्गत पंजीकृत किया जाता है | इसी प्रकार से फाइनेंस कंपनी को भी Companies Act 2013 या फिर कंपनी एक्ट 1956 के अंतर्गत पंजीकृत किया जाता है | इस कम्पनी के द्वारा लोगों को कर्ज प्रदान करके उनसे लाभ प्राप्त करना होता है | फाइनेंस कंपनी के द्वारा स्टॉक का अधिग्रहण या सरकार द्वारा जारी बांड का अधिग्रहण किया जाता है | इसके अतिरिक्त यह निवेश करके भी लाभ प्राप्त करती है |


ये भी पढ़ें: INB FULL FORM IN HINDI

भारत में एनबीएफसी (NBFC)

भारत में एनबीएफसी (NBFC) मिनिस्ट्री ऑफ़ कॉर्पोरेट अफेयर के द्वारा आंकड़ो को रखा जाता है | इसके 2014 के आंकड़ो के अनुसार भारत में 36 हजार से भी अधिक फाइनेंस कंपनी पंजीकृत है | इनमें से प्रमुख इस प्रकार है-

  • Mahindra Finance
  • Dewan Housing Finance (DHFL)
  • India Infoline (IIFL)
  • TATA Capital
  • Bajaj Finance
  • LIC Housing Finance
  • Indiabulls
  • Fullerton
  • L&T Finance
  • Muthoot Fincorp

एनबीएफसी (NBFC) के प्रकार

एनबीएफसी कम्पनियाँ कई प्रकार की होती है, इन्हें कार्यों के अनुसार केटेगरी में रखा गया है-

  • Asset Finance Company – यह संपती से सम्बंधित सुविधाएँ देती है |
  • Housing finance company – यह होम लोन से सम्बंधित सुविधाएँ देती है |
  • Mortgage Finance Company– यह सम्पतियों के बंधक से सम्बंधित फाइनेंस सुविधाएँ देती है |
  • Investment Company – यह निवेश की सुविधा प्रदान करती है |
  • Loan Company– यह कर्ज के लेंन देंन का कार्य करती है |
  • Infrastructure finance company– यह इन्फ्रास्ट्रक्चर से सम्बंधित कार्यों हेतु फाइनेंस सुविधा प्रदान करती है |
  • Core investment company– इसके द्वारा पूरी तरह से निवेश ही किया जाता है |
  • Micro finance company– यह छोटे कर्ज के लेंन देंन का कार्य करती है |

धन जमा करने के आधार पर

  • डिपाजिट लेने वाली कंपनी – यह बैंक की तरह ही पूंजी को जमा करती है |
  • डिपाजिट स्वीकार न करने वाली कंपनी – यह कंपनी बैंक की तरह डिपाजिट स्वीकार नहीं करती है |

ये भी पढ़ें: IMPS FULL FORM IN HINDI

Leave a Comment