CBSE Full Form in Hindi

सीबीएसई बोर्ड भी यूपी बोर्ड की तरह एक बोर्ड होता है, जो स्कूलों को मान्यता प्राप्त कराता है | आपने सुना होगा कि, कुछ स्कूल हिंदी मीडियम होते है और कुछ इंग्लिश मीडियम होते है | वहीं कुछ अभ्यर्थी इंग्लिश मीडियम स्कूल में पढ़ने जाते है और कुछ अभ्यर्थी हिंदी मीडियम में पढ़ते हैं, तो सीबीएसई बोर्ड से मान्यता प्राप्त कर लेने स्कूल इंग्लिश मीडियम के ही होते हैं | इसके अलावा कुछ ऐसे स्कूल भी होते हैं जिन्हे सीबीएसई बोर्ड से मान्यता प्राप्त होती है और वो हिंदी और इंग्लिश दोनों मीडियम के बच्चों को पढ़ाते है | तो स्कूलों को मान्यता प्राप्त करने  वाले  बोर्ड को सीबीएसई बोर्ड कहा जाता है | यदि आप भी सीबीएसई (CBSE) बोर्ड के विषय में जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो यहां पर आपको CBSE Full Form in Hindi , सीबीएसई बोर्ड की पूरी जानकारी प्रदान की जा रही है |

SSLC KA FULL FORM IN HINDI

CBSE का फुल फॉर्म in Hindi

CBSE का फुल फॉर्म “Central Board of Secondary Education होता है और इसे हिंदी भाषा में  “केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड” कहा जाता है | यह राष्ट्रीय स्तर पर सभी प्राइवेट तथा पब्लिक स्कूल को संचालित करने का काम करता है | सीबीएसई बोर्ड की स्थापना 3 नवंबर 1962 को की गई थी | वहीं इसका मुख्यालय दिल्ली में स्थित है |

सीबीएसई बोर्ड से सम्बंधित जानकारी 

सीबीएसई (CBSE) बोर्ड को  भारत सरकार के द्वारा नियंत्रित किया जाता है। इसके अलावा यह ऐसा बोर्ड है जो प्रत्येक वर्ष 10th और 12th की परीक्षा  का आयोजन करती है और साथ ही में यह बोर्ड  Jee Main, Neet,  की परीक्षाओं को भी आयोजित  करती है  | इसके अतिरिक्त सीबीएसई बोर्ड  AIPMT– All India Pre Medical Test का आयोजन करती है | इंडिया के सार्वजनिक और निजी विद्यालयों के लिए सीबीएसई मुख्य बोर्ड के रूप में काम करता है, जिसकी स्थापना करने का मुख्य उद्देश्य शिक्षा को नए स्तर तक ले जाने का था |

ITI KA FULL FORM IN HINDI

CBSE के क्षेत्रीय कार्यालय?

New Delhi

Chennai

Patna

Bhubneshwar

Thiruvanathapuram

Allahabad

Guwahati

Dehradun

Panchkula

सीबीएसई का प्रमुख उद्देश्य क्या है 

  1.   बोर्ड की शुरुआत करने का प्रमुख का उद्देश्य राष्ट्रीय लक्ष्यों के अनुरूप स्कूलों में शिक्षा में सुधार करने की योजना का प्रस्ताव  करने का है | 
  2. प्रमुख रूप से शिक्षकों के कौशल और पेशेवर क्षमता को अद्यतन करने के लिए क्षमता निर्माण कार्यक्रम आयोजित करना चाहते है |
  3. के प्रारूप और शर्तों को निर्धारित करने और 10 वीं और 12 वीं कक्षा की अंतिम परीक्षा आयोजित करना का सीबीएसई का प्रमुख उद्देश्य था |

 सीबीएसई बोर्ड 10वीं की परीक्षा 

सीबीएसई बोर्ड के पढ़ने वाले अभ्यर्थियों के 10वीं कक्षा  की परीक्षाओं का आयोजन मार्च में किया जाता है | वहीं अभ्यर्थियों को दसवीं में सफलता प्राप्त करने के लिए  न्यूनतम 33% पर्सेंट अंक प्राप्त करने आवश्यक होते है |

NIOS का फुल फॉर्म क्या होता है

कक्षा 12वीं की परीक्षा 

कक्षा 10  के साथ ही सीबीएसई बोर्ड  कक्षा 12 की परीक्षा का आयोजन भी मार्च करती है  और कक्षा 12वीं कक्षा  में भी सफलता प्राप्त करने के लिए अभ्यर्थियों  कम से कम 33% अंक प्राप्त करने  जरूरी होते हैं। इसके अलावा यदि अभ्यर्थी किसी विषय में सफल नहीं हो पाता है, तो वह अभ्यर्थी उस विषय की परीक्षा   ई महीने के अंतर्गत फिर से दे सकता है |

यहाँ पर हमने आपको सीबीएसई (CBSE) बोर्ड के विषय में जानकारी उपलब्ध कराई है | आशा करता हूँ कि यह आर्टिकल पसंद आया होगा यदि आपके मन में इस पोस्ट से सम्बंधित किसी भी प्रकार का प्रश्न हैं तो कमेंट के माध्यम से जरूर पूछे | और इससे रिलेटेड कोई और जानकारी चाहिए तो कमेंट में प्रतक्रिया मिलने के बाद बहुत ही जल्द उसकी जानकारी आप तक पहुंचाई जाएगी |

BBA FULL FORM IN HINDI