ICSE Full Form in Hindi

देश के सभी माता-पिता को अपने बच्चों की पढ़ाई को लेकर बहुत अधिक चिंता होती है, कि उनका प्रवेश किस स्कूल में कराया जाए , उनके लिए कौन सा बेहतर है, | इस तरह की चिंताएं सभी माता पिता के अंदर अपने बच्चों को लेकर होती है और वहीं जब स्कूल में बच्चों को आगे की पढाई के लिए एडमिशन करवाने की बात सामने आती है तो सभी माता – पिता सोचते हैं, कि वो अपने बच्चों का एडमिशन CBSE Board में कराये ICSE Board में, कौन सा बोर्ड उनके लिए बेहतर साबित होगा, क्योंकि हमारे देश में National Level पर  2 महत्वूर्ण Boards हैं, जिनमे CBSE Board और ICSE Board दोनों ही आते है। वहीं हमारे Education System में मुख्य रूप से तीन खंड हैं जिनमें Primary, Secondary और Higher Secondary स्तर शामिल है। इनमें से प्रत्येक Level पर Career बनाने के लिए अलग – अलग प्रक्रियाएं होती है | यदि आप भी आईसीएसई के विषय में जानना चाहते है, तो यहाँ पर आपको ICSE Full Form in Hindi , आईसीएसई का फुल फॉर्म क्या है ? इसकी पूरी जानकारी दी जा रही है |

CBSE FULL FORM IN HINDI

आईसीएसई का फुल फॉर्म | ICSE FULL FORM

आईसीएसई का फुल फॉर्म “Indian Certificate of Secondary Education” होता हैं और इसका हिंदी में उच्चारण  “इंडियन सर्टिफिकेट ऑफ सैकेण्डरी एजुकेशन” होता है | यह एक महत्वपूर्ण बोर्ड होता है |

आईसीएसई (ICSE) का क्या मतलब है ? 

आईसीएसई एक बोर्ड हैं, यह एक ऐसा बोर्ड है, जिसमें आयोजित की जाने वाली परीक्षा CISCE यानि The Council For The Indian School Certificate Examinations के द्वारा कराई जाती है । काउन्सिल ऑफ इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्ज़ामिनेशंस (CISCE) भारत का एक Private, Non-Government Education Board माना जाता है।  इस बोर्ड को मुख्य रूप से 1956 में Anglo-Indian Education हेतु हुई एक अन्तर्राज्यीय बैठक में संगठित किया गया था। इसका Headquarter नयी दिल्ली में स्थित है । 

आईसीएसई बोर्ड को भारत में New Education Policy 1986 की सिफारिशों को पूरा करने के लिए बनाया गया था। इस बोर्ड द्वारा आयोजित की जाने वाली सभी परीक्षाएं केवल English में  कराई जाती है। इसके अलावा  ICSE के Affiliated Colleges के नियमित छात्र ही इसकी परीक्षा में शामिल हो सकते है |   

जिन विषयों  में एक से अधिक पेपर (जैसे, Science) होते हैं, उस  विषय में प्राप्त किये जाने वाले अंकों का Calculation उस विषय के सभी Papers के विषय को लेकर ही की जाती है। वहीं जो अभ्यर्थी इस परीक्षा में शामिल होने के इच्छुक होते हैं उन अभ्यर्थियों को छह विषयों का अध्ययन करना होता है, जिसमें प्रत्येक Subject में एक से तीन पेपर होते हैं। यह Subjects के आधार पर कुल 8 से 11 पेपर तैयार किये जाते है | 

SSLC KA FULL FORM IN HINDI


For Classes Ix, X के लिए अनिवार्य विषय

Group 1  

1) English – अंग्रजी

2) Second Language- दूसरी भाषा

3) History/Civics & Geography – इतिहास/ नागरिकशास्र और भूगोल

4) Science Application – विज्ञान अनुप्रयोग

Group 2  (किसी भी 2-3 विषय का चुनाव कर लें )

1) Mathematics- गणित

2) Science (Physics, Chemistry, Biology) – विज्ञान

3) Commercial Studies – वाणिज्यिक अध्ययन

4) Economics – अर्थशास्त्र

5) Environmental Science – पर्यावरण विज्ञान

6) A Modern Foreign Language – विदेशी भाषा

7) A Classical Language – क्लासिकल भाषा 

Group 3 (किसी भी एक विषय का चुनाव करना होता है )

1) Computer Applications- कम्प्यूटर

2) Technical Drawing- टेक्नीकल ड्रॉइंग

3) Drama- ड्रामा

4) Art – कला

5) Dance – नृत्य

6) Yoga – योगा

7) Hindustan Music – भारतीय संगीत

8) Carnatic Music

9) Instrumental Music – वाद्य संगीत

10) Physical Education – शारीरिक शिक्षा

11) Economic Applications – अर्थशास्त्र अनुप्रयोग

12) Commercial Applications – वाणिज्यिक अनुप्रयोग

13) Mass Media And Communication – मास मीडिया और संचार

14) Modern Foreign Language – मॉडर्न विदेशी भाषा

15) Environmental Applications – पर्यावरण अनुप्रयोग

16) Cookery – कुकरी

17) Performing Arts – कला प्रदर्शन

For Classes Xi, Xii

अभ्यर्थियों को इनमें से 6 विषयों का चुनाव करना होता है –

1) Compulsory English

2) English Literature

3) Indian Language

4) Modern Foreign Language

5) Classical Language

6) History

7) Political Science

8) Geography

9) Psychology

10) Sociology

11) Economics

12) Commerce

13) Accounting

14) Business Studies

15) Mathematics

16) Physics

17) Chemistry

18) Biology

19) Biotechnology

20) Physical Education

21) Home Sciences Or Home Economics

22) Fashion Design

23) Electronics

24) Engineering Physics

25) Computer Science

26) Geometrical And Mechanical Drawing

27) Geometrical And Building Drawing

28) Art

29) Hindustani Classical Music

30) Carnatic Music

31) Environmental Science

32) Socially Useful Productive Work

आईसीएसई (ICSE) बोर्ड के फायदे 

1) ICSE Board एक ऐसा महत्वपूर्ण बोर्ड होता है, जो प्रमुख रूप से बच्चे के Holistic Development (पूर्ण विकास) पर केंद्रित होता है और इसका Syllabus संतुलित होता है ।

2) इसका Syllabus अधिक  Comprehensive होता है और इसमें छात्रों में Practical Knowledge और Analytical Skills बढ़ जाती है | 

3) आईसीएसई बोर्ड में जरूरी विषयों पर विशेष ध्यान दिया जाता है | 

4) इस Syllabus में छात्रों को उनके मन मुताबिक Specific Subjects का चुनाव करने के लिए कहा जाता है |

5) इस बोर्ड  में केवल English Medium का ही इस्तेमाल किया जाता है | इसलिए जो छात्र इंग्लिश मीडियम से पढ़ाई करना चाहते हैं, उनके लिए यह बोर्ड बेहद अच्छा माना जाता है |

NEET FULL FORM IN HINDI

यहाँ पर हमने आपको आईसीएसई (ICSE) के विषय में जानकारी उपलब्ध कराई है | यदि इस जानकारी से रिलेटेड आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न या विचार आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है, हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |

IIT FULL FORM IN HINDI