PDF Full Form in Hindi

PDF वर्तमान समय डेली प्रयोग वाला बहुत ही पोपुलर फाइल एक्सटेंशन बन चुका है | पीडीऍफ़ (PDF) की सहायता से हम घर बैठे ही अपने फ़ोन या कंप्यूटर के माध्यम से बुक्स भी आसानी से पढ़ सकते है | किसी को कोई डाक्यूमेंट्स या नौकरी के लिए रिज्यूम भी पीडीऍफ़ (PDF) फाइल में भेजा जा सकता है | ऑफिस सेक्टर से रिलेटेड जॉब्स में अधिकतर कार्य पीडीऍफ़ (PDF) फाइल का प्रयोग करके ही किया जाता है | अगर देखा जाये तो किसी भी ऑफिसियल वर्क के लिए पीडीऍफ़ (PDF) फाइल एक विशेष महत्व रखता है | अगर आप भी जानना चाहते है कि पीडीएफ (PDF) फाइल क्या है, इसका फुल फॉर्म क्या होता है तो यहां पर पूरी जानकारी विस्तार से बताई जा रही है |

ये भी पढ़ें: BSC FULL FORM IN HINDI

पीडीऍफ़ (PDF) का फुल फॉर्म

पीडीऍफ़ का फुल फॉर्म Portable Document Format होता है जिसे हिंदी में ‘पोर्टेबल डॉक्यूमेंट फ़ाइल’ कहा जाता है | अगर हम पीडीऍफ़ की बात सीधे तौर पर करे तो यह एक प्रकार का दस्तावेज फाइल होती है जिसके अंतर्गत  Text Massage , Image, Hyperlinks, Embedded Fonts, Video आदि फाइलों को आसानी से सुरक्षित रखा जा सकता है और लम्बे समय तक इसे पढ़ा भी जा सकता है |

पीडीऍफ़ (PDF) का निर्माण एक्रोबेट कंपनी ने किया है | पीडीऍफ़ फाइल को एडोब एक्रोबेट सॉफ्टवेर की सहायता से बनाया जा सकता है और इसे एडोब रीडर सॉफ्टवेर की मदद से आसानी से पढ़ भी सकते है | वर्तमान समय में इसके अलावा बहुत से ऐसे सॉफ्टवेर है जिसकी मदद से पीडीऍफ़ फाइल बना और पढ सकते है इसका प्रयोग मुख्य रूप से डाटा को अदान प्रदान करने में किया जाता है |

ये भी पढ़ें: PHD FULL FORM IN HINDI

पीडीएफ (PDF) फाइल क्या है

पीडीएफ (PDF) एक फाइल फॉर्मेट होता है अगर वर्तमान समय में देखा जाये तो यह सबसे लोकप्रिय ईबुक फॉर्मेट होता है। इसकी सबसे अच्छी खासियत यह होती है कि ये किसी भी text या images को PDF में आसानी से बदल (Convert) कर देता है और फिर उसी फॉर्मेट में किसी भी दूसरी डिवाइस में ओपन कर सकते है। इसकी सबसे अच्छी बात यह होती है कि यदि आप किसी भी डॉक्यूमेंट का प्रिंट लेना चाहते है तो PDF फाइल में convert करके आसानी से ले सकते है, क्योंकि इसके फॉर्मेट में फाइल का फॉर्मेट नहीं बदलता।

ये भी पढ़ें: COMPUTER का फुल फॉर्म क्या है

PDF कैसे बना

PDF Technology की दुनिया में एक अलग क्रांति लेकर आया, टेक्निकल क्षेत्र में जिसका प्रयोग बहुत अधिक देखने को मिलता है। वर्तमान समय में जाने – अनजाने में भी सभी जगहों पर PDF का प्रयोग होता आ रहा हैं आपने ये सोचा कभी की पीडीऍफ़ का निर्माण कैसे हुआ, अगर नहीं जानते तो  यहां से देखिये की PDF कैसे बनती है | पीडीऍफ़ निर्माण की जानकारी इस प्रकार है –

पीडीएफ (PDF) मुख्य रूप से तीन टेक्नोलॉजी (Technology) से मिलकर बना है। जो इस प्रकार से बताई गई है

  1. अगर हम पहली टेक्नोलॉजी की बात करे तो यह एक पोस्ट स्क्रिप्ट पेज डिस्क्रिप्शन प्रोग्रामिंग लैंग्वेज से बना होता है जो layout और graphics को generate करता है।
  2. अब बात दूसरी टेक्नोलॉजी की करे तो इसमें एक फॉन्ट रिप्लेसमेंट सिस्टम (Font Replacement System) होता है जिसके माध्यम से बाहर के document से आने वाले font को control किया जाता है और उसे सटीक स्थान पर रखने में सहायता करता है |
  3. तीसरी टेक्नोलॉजी में एक स्ट्रक्चर्ड स्टोरेज सिस्टम (Structured Storage System) होता है जो storage के लिए बहुत आवश्यक होता है। यह सिस्टम PDF में किसी भी डॉक्यूमेंट को सेव करता है।

ये भी पढ़ें: ERP KA FULL FORM IN HINDI

पीडीऍफ़ (PDF) की स्थापना

अगर हम बात करे की पीडीऍफ़ का इतिहास क्या रहा तो बहुत से तथ्य सामने आते है अगर निर्माण की बात करे तो  सन 1990 के आसपास ही हो गया था | इसके बाद सन 1993 में Adobe systems ने PDF फाइल फॉर्मेट को पूरी तरह से फ्री ऑफ़ कॉस्ट कर दिया था। इसके पहले PDF एक proprietary फॉर्मेट था, जिसका कंट्रोल Adobe systems के द्वारा किया जाता था। लेकिन 1 जुलाई 2008 से यह सबके लिए खोल (Open) दिया गया था। वर्तमान समय में Adobe के अलावा और भी लोग प्रयोग कर रहे है ।

ये भी पढ़ें: CNG (सीएनजी) FULL FORM IN HINDI

पीडीऍफ़ (PDF) के फायदे

टेक्नोलॉजी की दुनिया में पीडीऍफ़ (PDF) के बहुत सारे फायदे देखने को मिलते है जो इस प्रकार से है –

Independent & Portable

मुख्य रूप से देखा जाये तो पोर्टेबल डॉक्यूमेंट फॉर्मेट इसी लिए विकसित किया गया क्योकि इससे गतिशीलता और पोर्टेबिलिटी की सुविधा प्रदान होती है। और आप एडोब एक्रोबैट रीडर जैसे फ्री ऑफ़ कास्ट सॉफ्टवेर का प्रयोग करके आसानी से पीडीएफ फ़ाइल पढ़ सकते हैं |

Embeds Font in PDF

यदि आपने किसी PDF फाइल में किसी खास font का प्रयोग किया है और आप जहाँ पर भेज रहे है उसके पास भी उसी फॉन्ट में display करना चाहते है तो PDF फाइल में फॉन्ट embed करना होगा है जिससे उसे भी वही फॉन्ट नजर आएगा |

ये भी पढ़ें: EMI FULL FORM IN HINDI

More Secure

यह किसी भी डॉक्यूमेंट फाइल को ईमेल के माध्यम से share करने के लिए एक आसान और सुरक्षित तरीका होता है। इसके द्वारा उपयोगकर्ता पहुंच के स्तर को भी अपने अनुसार व्यवस्थित कर सकते हैं।

Interactivity in PDF

किसी भी पीडीएफ फाइल में इंटरैक्टिव फॉर्म को भी इंटेग्रटे किया जा सकता है जो request के अनुसार डेटा इनपुट करके उसे data base में export या save किया जा सकता है।

Can Reduce File Size

इसके द्वारा आप PDF फाइल में कोई भी Data Loss & Quality Loss किये बिना उसका साइज़ आसानी से घटा या Compress किया जा सकता है फाइल का साइज़ कम होने से डेटा या फाइल की शेयरिंग स्पीड तेज हो जाती है |

ये भी पढ़ें: DJ FULL FORM IN HINDI

PDF में आने वाली समस्याएं

अगर PDF फॉर्मेट की बात की जाए तो इसमें कुछ समस्याए भी देखने को मिलती है जो इस प्रकार है –

  • यदि आप किसी भी डॉक्यूमेंट को PDF में Convert कर देते है तो आप उस डॉक्यूमेंट में कोई बदलाव नहीं कर सकते हैं |
  • PDF फाइल में किसी भी तरह का एडिट नहीं किया जा सकता है |
  • पीडीऍफ़ फाइल में लिखा हुए Text को कॉपी नहीं किया जा सकता है |

ये भी पढ़ें: PPT KA FULL FORM IN HINDI

ये भी पढ़ें: एलकेजी (LKG) यूकेजी (UKG) का फुल फॉर्म क्या है

ये भी पढ़ें: VIP और VVIP का फुल फॉर्म क्या होता है