SP Full Form in Hindi

भारत के राजनितिक दलों में से एक राजनीतिक दल सपा (SP) भी है । यह भारत के उत्तर प्रदेश राज्य में राजनीतिक पार्टी है । सपा की स्थापना 4 अक्टूबर 1992 को किया गया था । सपा के संस्थापक व संरक्षक मुलायम सिंह यादव, उत्तर प्रदेश के तीन बार मुख्यमंत्री रहे  और देश के पूर्व रक्षा मंत्री भी रह चुके है ।  उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव वर्तमान में सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं । सपा को सबसे अधिक  सफल उत्तर प्रदेश में माना जाता है | सपा का चुनाव चिन्ह “साइकिल ” है | यदि आप भी सपा (SP) के विषय में जानना चाहते है तो यहाँ पर हम आप को सपा का फुल फॉर्म क्या है, सपा का इतिहास और सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष कौन है, और सपा  के बारे में सम्पूर्ण जानकारी दी जा रही है |

SP (सपा) का फुल फॉर्म

SP (सपा) का फुल फॉर्म “समाजवादी पार्टी” है | समजवादी पार्टी का गठन मुलायम सिंह यादव ने 4 अक्टूबर 1992 में राममनोहर लोहिया के आदर्शों में विश्वास रखने वाली समाजवादी पार्टी का गठन किया था । प्रमुख रूप से उत्तर प्रदेश में जनाधार वाली समाजवादी पार्टी का चुनाव चिह्न ‘साइकिल’ है । समाजवादी पार्टी के वर्तमान संचालक मुलायम के पुत्र अखिलेश यादव हैं । मुलायम सिंह यादव पहले पूर्व प्रधानमंत्री वीपी सिंह की पार्टी जनता दल से नाता तोड़कर चंद्रशेखर की समाजवादी जनता पार्टी में शामिल हुए । मुलायम सिंह यादव ने 1992 में समाजवादी पार्टी के नाम से नई पार्टी बनाने का घोषणा कर दिया । मुलायम सिंह यादव सपा के संस्थापक अध्यक्ष बने, जबकि जनेश्वर मिश्र उपाध्यक्ष, कपिलदेव सिंह और मोहम्मद आज़म खान पार्टी के महामंत्री बने।

मुलायम सिंह यादव जहां उत्तर प्रदेश के तीन बार मुख्‍यमंत्री पद पर रहे हैं, वहीं अखिलेश यादव मार्च 2012 से मार्च 2017 तक उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री पद पर रहे । 2012 के चुनाव में समजवादी पार्टी  ने 224 सीटें जीत कर पूर्ण  बहुमत प्राप्त किया था । समाजवादी पार्टी का मुख्य रूप से जनाधार अन्य पिछड़ी जातियों (ओबीसी) खासकर यादवों में अधिक है । मुस्लिम समुदाय का समाजवादी पार्टी को अच्छा समर्थन प्राप्त है ।

सपा (SP) की स्थापना

सामाजवादी पार्टी की स्थापना राममनोहर लोहिया के आदर्शों में विश्वास रखने वाले मुलायम सिंह यादव ने 4 अक्टूबर 1992 में किया था | उस समय समजवादी पार्टी के संस्थापक अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव बने | जबकि जनेश्वर मिश्र उपाध्यक्ष, कपिलदेव सिंह और मोहम्मद आज़म खान समाजवादी पार्टी के महामंत्री बने । मोहन सिंह को समजवादी पार्टी का प्रवक्ता बनाया गया था ।

सपा (SP) का इतिहास

सपा (SP), जो लगभग सामाजिक पार्टी के रूप में जानी जाती है । इसका जन आधार आमतौर से उत्तर प्रदेश में है, हालांकि कर्नाटक, बिहार, उत्तराखंड और मध्य प्रदेश जैसे अन्य राज्यों में भी इसकी उपस्थिति है ।  इस पार्टी की राजनीतिक स्थिति केन्द्रीय स्तर की है, और यह लोकतांत्रिक समाजवाद, लोकप्रियता और सामाजिक परंपरागत की राजनीतिक विचार धाराओं पर आधारित है ।

उत्तर प्रदेश में मुख्यधारा के किनारे पर रहने वाले समाज के सामाजिक रूप से सताए हुए लोगों  के लिए समाजवादी पार्टी अपनी पूर्ण निष्ठा, और राजनीतिक स्पर्द्धा का दावा करती है । दूसरे शब्दों में कहे तो , लोकतांत्रिक समाजवादी पार्टी होने का दावा करते हुए समाजवादी पार्टी अल्पसंख्यकों, प्रचुर रूप से अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) और मुसलमानों के उत्थान एवं आर्थिक विकास की बात करती है । पार्टी धर्मनिरपेक्षता के मार्गदर्शक सिद्धांतों पर भी काम करती है, और सभी सांप्रदायिक मुद्दों के खिलाफ स्पर्द्धा करती है । अनुभवी नेता और पार्टी के  संस्थापक अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने लखनऊ में अक्टूबर 1992 में गठित सपा मूल संगठन जनता दल से अलग होने वाले कई राजनीतिक पार्टियों में से एक थी । समाजवादी पार्टी के प्रगतिशील विचारक, लेखक और महान सांसद राम मनोहर लोहिया के पदचिन्हों पर अग्रसर है, जिन्हें सपा के कार्यकलापों के लिए पथ प्रदर्शक माना जाता है । मुख्य स्तर की राजनीति में शामिल होने के लिए लोहिया का लोकतांत्रिक  सोचने-समझने का पहलू और लोकप्रियता, अहिंसक विरोधों और सत्याग्रह के उनके गांधीवादी निश्चित मत और देश में पूंजीपतियों और सामंती प्रवृत्तियों के सभी रूपों को बंद करने में उनकी धारणा ने समाज के सबसे अधिक गरीब और सबसे अधिक दुःखी वर्गों, पिछड़ी जातियों और अन्य अल्पसंख्यकों तक पहुँच रखने में मुलायम सिंह यादव और समाजवादी पार्टी के अन्य सदस्यों को बहुत उत्साहित  किया है ।

लोहिया की ‘करो या मरो’ भावना पार्टी के लिए एक महान प्रेरणा है, जो देश के सामाजिक स्वभाव से उपेक्षित वर्गों  के बीच आशा और आत्मविश्वास पैदा करती है । 17 वीं लोकसभा चुनाव में, वर्तमान में समाजवादी पार्टी के 5 सदस्य हैं । राज्यसभा में इस पार्टी के 18 सदस्य हैं । राष्ट्रीय स्तर पर पार्टी, संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन का सदस्य न होने के अलावां गठबंधन को बाहरी समर्थन प्रदान करती है । क्षेत्रीय स्तर पर वर्ष 2012 के यूपी विधानसभा चुनावों में पूर्ण बहुमत प्राप्त करते हुए, और चिर प्रतिद्वंदी बसपा सरकार को पराजित करते हुए समजवादी पार्टी ने उत्तर प्रदेश में अपनी सरकार बनाई । मुलायम सिंह यादव के पुत्र अखिलेश यादव उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री नियुक्त किये गए । उसके बाद पार्टी ने अखिलेश यादव के देखरेख  में, कांग्रेस के साथ गठबंधन करके 2017 में चुनाव लड़ा । आपसी मतभेद और पारिवारिक फूट के कारण 2017 में सपा पराजित हुई, और पूर्ण बहुमत में सरकार बनाने वाली समाजवादी पार्टी सिर्फ 47 सीटों पर सिमट कर रह गई । इसके बाद 2019 लोकसभा का चुनाव बसपा और रालोद पार्टी के साथ गठबंधन करके लड़ा जिसमे मायावती को 10 और अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी  केवल 5 सीटें ही प्राप्त कर सकी |  

सपा (SP) का चुनाव चिन्ह

समाजवादी पार्टी का चुनाव चिन्ह “साइकिल” है । यह प्रायः दो रंगे पार्टी ध्वज पर अंकित किया गया है, एक लाल और दूसरा हरा रंग है । लाल रंग संघर्ष और क्रांतिकारी आदर्शों का प्रतीक है । हरा रंग घास या हरियाली का प्रतीक है, जो समाजवादी पार्टी की राजनीति के बुनियादी स्तर को दर्शाता है । हरा आशा का रंग भी कहा जाता है । समाजवादी पार्टी  का चुनाव चिन्ह महत्वपूर्ण है, क्योंकि यह पार्टी की वास्तव में होने वाला भावना का प्रतिनिधित्व करता है ।

इस प्रकार समाजवादी पार्टी का चुनाव चिन्ह महत्वपूर्ण है, क्योंकि यह राज्य के विभिन्न समुदायों की समग्र अग्रसर और विकास की दिशा में पार्टी की उन्नति का प्रतीक है । एक साइकिल की तरह, जो किसी गंतव्य तक पहुँचने के लिए एक वाहन के तौर में उपयोग की जाती है, समाजवादी पार्टी न्याय प्राप्त करने के लिए अपने गंतव्य तक पहुँचना तय करती है । लाल झंडा पार्टी के समाजवादी होने और वर्ग स्पर्द्धा सिद्धांतों का द्योतक है । इस प्रकार समजवादी पार्टी का चुनाव चिन्ह यह दर्शाता है, कि इसका उद्देश्य  क्या है ।

सपा (SP) पार्टी राष्ट्रीय अध्यक्ष

सपा (SP) के वर्तमान राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव जी है, और 2012  में ये उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री भी रह चुके है | समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्षों की सूची इस प्रकार है –

  • मुलायम सिंह यादव
  • शिवपाल यादव
  • अखिलेश यादव

सपा (SP) के मुख्यमंत्री की सूची

  • मुख्यमंत्री के नाम                    कार्यकाल
  • मुलायम सिंह यादव                 5 दिसम्बर 1993 से 3 जून 1996 तक          
  • मुलायम सिंह यादव                 29 अगस्त 2003 से 11 मई 2007 तक
  • अखिलेश यादव                      15 मार्च 2012 से 19 मार्च 2017 तक

इस आर्टिकल में हमनें आप को समाजवादी पार्टी यानि कि सपा (SP)के विषय में जानकारी दी| यदि इस जानकारी से रिलेटेड आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न या विचार आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है, हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |