KYC Full Form in Hindi

केवाईसी (KYC) बैंक या वित्तीय कंपनियों से जुडी हुई महत्वपूर्ण प्रक्रिया होती है | इसका प्रयोग बैंक में खाता खोलने में, फिक्स्ड डिपाजिट बनवाने में, म्यूचुअल फंड खरदीने में या फिर बीमा पालिसी लेने में, आपके द्वारा  KYC फॉर्म भरवाया जाता है | इन सभी के लिए यह प्रक्रिया बहुत जरूरी होती है | यहाँ पर KYC क्या है, KYC की जानकारी भरना क्यों जरूरी होता है और इसे भरने के लिए कौन से डाक्यूमेंट्स आवश्यक होते हैं | इसके बारे में विस्तार से जानकारी दी जा रही है |

ये भी पढ़ें: SSC KA FULL FORM IN HINDI

KYC का फुल फॉर्म क्या होता है

KYC फुल फॉर्म Know your customer होता है जिसे हिंदी में ‘अपने ग्राहक को जानिये’ कहा जाता है | बैंक तथा वित्तीय कम्पनियाँ इस फॉर्म को भरवाने के साथ – साथ कुछ पहचान के प्रमाण संबंधित डाक्यूमेंट्स भी लेतीं हैं जिन प्रमाणों के आधार पर ग्राहक की पहचान की पुष्टि की जाती है | केवाईसी (KYC) भारतीय रिज़र्व बैंक के द्वारा बैंकों के लिए ग्राहकों से भरवाना जरूरी किया गया है |

ये भी पढ़ें: MLA KA FULL FORM IN HINDI

केवाईसी (KYC) क्या है

केवाईसी (KYC) एक महत्वपूर्ण डाक्यूमेंट्स होता है जिेसे वित्तीय कम्पनी या बैंक जब किसी ग्राहक को कोई वित्तीय सेवा प्रदान करती है तो ग्राहक की पहचान प्रमाणित करने में इस डाक्यूमेंट्स का अहम रोल होता है। KYC बैंकिंग प्रक्रियाओं का महत्वपूर्ण और जरूरी भाग माना जाता है। यह धोखाधड़ी वाले लेन देनों के जोखिम से बचाने में मदद करता है।

ये भी पढ़ें: आरएसएस (RSS) का फुल फॉर्म क्या है

केवाईसी के लिये जरूरी डाक्यूमेंट्स

निवेशकों या बैंक खाताधारकों को अपने केवाईसी एप्लिकेशन फॉर्म के साथ कुछ महत्वपूर्ण डाक्यूमेंट्स की प्रतिलिपि देनी होती है जो इस प्रकार है –


  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • पहचान प्रमाण
  • पैन कार्ड
  • ड्राइविंग लाइसेंस
  • पासपोर्ट कॉपी
  • वोटर आईडी कार्ड
  • आधार कार्ड
  • बैंक पासबुक की कॉपी |

ये भी पढ़ें: IAS KA FULL FORM IN HINDI

कहाँ होती है केवाईसी (KYC) फॉर्म भरने की जरूरत

केवाईसी (KYC) फॉर्म भरने की जरूरत बैंक में खाता खुलवाने के अतरिक्त लोन लेने, लॉकर लेने, क्रेडिट कार्ड बनवाने, म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करने, पोस्ट ऑफिस RD  बनवाने तथा बीमा पालिसी आदि को लेने पर पड़ सकती है | वर्तमान समय में बैंक में लेनदेन के लिए और नया खाता खुलवाने के लिए केवाईसी फॉर्म भरना जरूरी कर दिया गया है | यदि आप KYC फॉर्म नहीं भरते हैं तो बैंक अधिकारी आपका खाता खोलने से इंकार भी कर सकता है | इस तरह हमे इन जगहों पर केवाईसी (KYC) फॉर्म भरने की जरूरत पड़ती रहती है |

ये भी पढ़ें: ATM KA FULL FORM IN HINDI

केवाईसी (KYC) के लिए एड्रेस प्रूफ

ग्राहक केवाईसी (KYC) के लिए एड्रेस प्रूफ के रूप में कोई भी सरकारी बिल जैसे – टेलीफोन बिल , बिजली का बिल, गैस का रीफिलिंग बिल, पासपोर्ट, बैंक अकाउंट स्टेटमेंट, राशन कार्ड, नियोक्ता द्वारा जारी अप्‍वाइंटमेंट लेटर, कॉमर्शियल बैंकों के द्वारा भेजा गया पत्र, लेखपाल द्वारा जारी किया गया निवास प्रमाण पत्र आदि इस तरह के डाक्यूमेंट्स को एड्रेस प्रूफ के तौर पर लगाया जा सकता है |

ये भी पढ़ें: IIM FULL FORM IN HINDI

केवाईसी (KYC) का उद्देश्य

केवाईसी (KYC) भरवाने का प्रमुख उद्देश्य यह होता है कि जाने या अनजाने में अपराधिक तत्व बैंकिंग प्रणाली या वित्तीय कंपनियों द्वारा लेन देन का अनुचित प्रयोग अपनी गतिविधियों के लिए न कर सके | अपराधियों द्वारा दी जाने वाली नकली पहचान और नकली पते पर खाता खोलने की कोई भी प्रक्रिया को केवाईसी के माध्यम से रोका जा सके |

ये भी पढ़ें: BSC FULL FORM IN HINDI

ये भी पढ़ें: MP KA FULL FORM IN HINDI

ये भी पढ़ें: PHD FULL FORM IN HINDI